Home » Hindi » संज्ञा किसे कहते हैं ? उदहारण सहित समझें।

संज्ञा किसे कहते हैं? जाने संज्ञा के भेद एवं उनकी परिभाषा उदहारण सहित

“संज्ञा किसे कहते हैं? संज्ञा के कितने भेद हैं? संज्ञा की परिभाषा लिखें।” क्या आप भी कुछ ऐसे ही प्रश्नो के उत्तर खोज रहे हैं? यदि हाँ तो आज हम आपको संज्ञा से जुड़े सभी प्रश्नो की जानकारी प्रदान करेंगे।

संज्ञा क्या है? संज्ञा किसे कहते हैं? (Sangya Kise Kahate Hain)

संज्ञा किसे  कहते हैं

किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान, गुण, भाव आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं। जैसे – सोहन, प्रिया, दिल्ली, किताब

संज्ञा का उपयोग कहा किया जाता है?

संज्ञा एक विकारी शब्द हैं। इसका उपयोग किसी भी व्यक्ति, वस्तु, स्थान आदि के नाम के रूप में किया जाता है। जैसे- गीता जा रही है।

उपयुक्त वाक्य में गीता संज्ञा है। इस वाक्य में संज्ञा का उपयोग व्यक्ति के नाम के रूप में किया गया है। स्वयं वह व्यक्ति संज्ञा नहीं है बल्कि उसका नाम संज्ञा है।

तो किसी भी व्यक्ति, वस्तु, स्थान के नाम को संज्ञा कहा जाता है ना कि उस व्यक्ति, वस्तु, या स्थान को।

हम कुछ और उदहारण लेकर आपको समझाएंगे ताकि आपको अच्छे से समझ आ जाए।

  • मोहन खाना खा रहा है। – इस वाक्य में मोहन संज्ञा है।
  • दिल्ली हमारी राजधानी है। – इस वाक्य में दिल्ली संज्ञा है।

संज्ञा वाक्यों के 10 उदाहरण

  1. राम स्कुल जा रहा है।
  2. यह किताब मेरी है।
  3. गाँधी जी अंहिसावादी व्यक्ति थे।
  4. यह सेब बहुत मीठा है।
  5. कुत्ते सबसे वफादार जानवर होते हैं।
  6. आज मेले में बहुत भीड़ थी।
  7. चाँदी के भाव आसमान छू रहे हैं।
  8. सोहन आज दिल्ली जाएगा।
  9. अंगूर खट्टे हैं।
  10. रोहन में अच्छा दोस्त है।

संज्ञा के कितनें भेद होते हैं? (Sangya ke bhed)

व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

जिस वाक्य से किसी विशेष व्यक्ति, वस्तु या स्थान, दिशा, नदी आदि के नाम का बोध हो उसके व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं।

उदहारण-

  • सोनू में दोस्त है।

इस वाक्य में सोनू किसी व्यक्ति का नाम है इसलिए यह व्यक्तिवाचक संज्ञा है।

  • हमारे कुत्ते का नाम टॉमी है।

इस वाक्य में टॉमी एक कुत्ते का नाम है इसलिए यह भी एक व्यक्तिवाचक संज्ञा का उदहारण है।

जातिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

जिस वाक्य से किसी एक जाति विशेष की सभी वस्तुओं या प्राणियों का बोध हो उसे जातिवाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे जानवर, पहाड़, बच्चा, कार आदि।

इसमें जानवर शब्द से संसार के सभी जानवरों का बोध होता है।

पहाड़ शब्द से सभी पहाड़ों का बोध होता है।

उदाहरण-

  • बच्चे स्कूल जा रहे हैं।
  • रोड़ पर गाड़ियाँ चल रही है।

इन वाक्यों में बच्चे, गाड़ियाँ एक जाती का बोध करवाती है इसलिए इन्हें जातिवाचक संज्ञा कहा जाता है।

भाववाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

जिस शब्द से किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान के गुण, दोष, भाव आदि का बोध हो उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं।

उदाहरण-

  • यह आम बहुत मीठा है।
  • मोहन का स्वभाव बहुत विनम्र है।

इन वाक्यों में मीठा व विनम्र भाववाचक संज्ञा है।

समूहवाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

जिस शब्द से किसी समुदाय या समूह का बोध हो उसे समूहवाचक संज्ञा कहते हैं।

उदहारण- 

  • भारतीय देना विश्व की सबसे ताकतवर सेना है।

इस वाक्य में सेना एक समूह को दर्शाती है इसलिए यह एक समूहवाचक संज्ञा है।

द्रव्यवाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

जिस संज्ञा शब्द से ठोस, तरल, धातु आदि का बोध हो उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते हैं।

उदाहरण-

  • आजकल सोना बहुत महंगा हो गया है।

इस वाक्य में सोना द्रव्यवाचक संज्ञा है।

संज्ञा के बारे में पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न-

संज्ञा की परिभाषा लिखो?

जिस शब्द से किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान आदि का बोध हो उसे संज्ञा कहते हैं। जैसे – राम, गीता, स्कुल, दिल्ली आदि।

संज्ञा के कितने भेद होते हैं?

संज्ञा के पांच भेद होते हैं –
1. व्यक्तिवाचक संज्ञा
2. जातिवाचक संज्ञा
3. भाववाचक संज्ञा
4. समूहवाचक संज्ञा
5. द्रव्यवाचक संज्ञा

संज्ञा के 5 भेद कौन कौन से होते हैं?

व्यक्तिवाचक संज्ञा
जातिवाचक संज्ञा
भाववाचक संज्ञा
समूहवाचक संज्ञा
द्रव्यवाचक संज्ञा

संज्ञा के 10 उदहारण दें।

1. राम स्कुल जा रहा है।
2. यह किताब मेरी है।
3. गाँधी जी अंहिसावादी व्यक्ति थे।
4. यह सेब बहुत मीठा है।
5. कुत्ते सबसे वफादार जानवर होते हैं।
6. आज मेले में बहुत भीड़ थी।
7. चाँदी के भाव आसमान छू रहे हैं।
8. सोहन आज दिल्ली जाएगा।
9. अंगूर खट्टे हैं।
10. रोहन में अच्छा दोस्त है।

तो आज हमने सीखा संज्ञा तथा उसके भेद के बारे में। अगर आप सभी का इस टॉपिक से जुड़ा कोई प्रश्न है तो आप हमसे कमेंट बॉक्स के जरिए पूछ सकते हैं।

Leave a Comment